{*BEST*} 500+ Gam Bhari Shayari

Gam Bhari Shayari इस्तेमाल करे Gam Bhari Shayari, Dard Bhari Shayari, आर०जे सदफ दर्द भरी शायरी, Gam Shayari Photo, गम भरी शायरियां, Gam Shayari, Shayari Gam Bhari, दर्द भरी शायरी हिंदी में, Game Bhari Shayari और इस के साथ दर्द शायरी हिंदी और साथी साथ Dard Bhari Shayari In Hindi 160 आपके सोशल स्टेटस के लिए.


जसा की अप सभी जानते हैं हमारा ब्लॉग Topics-guru हर हप्ते आपके लिए कुछ नया जानकारी लेके आते है, वो Shayari हो या Quotes हो या फिर Slogan हो या  Captions  हो. और दोस्तों अगर अपने हमारे ब्लॉग को   SUBSCRIBE नही किया हैं अभी तक तो  SUBSCRIBE जल्दी कर लीजिये नया पोस्ट के आनंद पाने के लिए.

 

और आप चाहे तो इस पोस्ट / आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ और सोशल मीडिया में, जसा की Facebook और Whatsapp पर भी शेयर कर सकते हैं. 


{*BEST*} 500+ Gam Bhari Shayari

 

Gam Bhari Shayari- www.topics-guru.com

gam bhari shayari: मैंने तेरे इंतजार में गुजार दिये कई साल।

तुझे एक भी दिन नहीं आया मेरा ख्याल।।



काश दिल बिकते होते कहीं मोल बाजार में।

गम न होता चाहें दिल रोज टूटे प्यार में।।




तुझे थी अगर दौलत की इतनी ही हवस।

मुझ गरीब को क्यों सिखाया तूने प्यार का सबक।।




ये तो अच्छा है कि ? आंसू बेरंग हुआ करते है !!

वरना ? रातो के भीगे तकिये सारे ? राज खोल देते !!


Gam Bhari Shayari


वफ़ा के नाम से वो अनजान थे,

किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे,

हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला,

हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे.




कभी याद मेरी आई तो तुमको वो पल रूला देगा,

तुम्हारे दिल की धड़कनों को भी जगा देगा।

हमेशा याद रखेंगे हम तुम्हारी बेवफाई को,

मेरे जैसा महबूब तुम को फिर भी दुआ देगा।।




वक़्त हर ज़ख्म का मरहम तो नहीं बन सकता

दर्द कुछ होते हैं ता-उम्र रुलाने वाले.




दिल था अमीर और मुक़द्दर ग़रीब था,

मिल कर बिछड़ना मेरा नसीब था,

चाह कर भी कुछ कर ना सके हम,

घर भी जलता रहा और समुंदर भी करीब था ….||


Dard Bhari Shayari

Gam Bhari Shayari- www.topics-guru.com



dard bhari shayari: मेरी रूह में न समाती तो भूल जाता तुम्हे,

तुम इतना पास न आती तो भूल जाता तुम्हे,

यह कहते हुए मेरा ताल्लुक नहीं तुमसे कोई,

आँखों में आंसू न आते तो भूल जाता तुम्हे!!



आंसुओं की बूँदें हैं या आँखों की नमी है,

न ऊपर आसमां है न नीचे ज़मी है,

यह कैसा मोड़ है ज़िन्दगी का,

उसी की ज़रूरत है और उसी की कमी है.



मेरे खामोश रहने से कभी

नाराज न होना

कुछ दर्द ऐसे होते हैं

जो खामोश कर देते हैं.



सजा मुझे कैसे मिल गई दिल लगाने की,

रो रहे हैं मगर तमन्ना थी मुस्कुराने की।

अपना दर्द अब किसे दिखाएं,

दर्द तो उसी से मिला जो वजह था मुस्कुराने की।


आर०जे सदफ दर्द भरी शायरी


आर०जे सदफ दर्द भरी शायरी: वह मेरे मेहबूब बड़ी जल्दी ख्याल आया मेरा, 

अब बस भी करो चूमना और उठ भी जाने दो जनाज़ा मेरा...!


Gam Bhari Shayari- www.topics-guru.com



मुझको ढूंढ लेती है रोज एक नए बहाने से

तेरी याद वाकिफ हो गयी है मेरे हर ठिकाने से ।



कुछ पल के लिए मुझे अपनी बाहों में सुला दे.

अगर आँख खुली तो उठा देना और अगर न खुली तो दफना देना.




हर लमहा गुजर जाता है, 

जब अपना कोई बेगाना नज़र आता है, 

यु तो आवाज़ आती है हर शीशे के टूटने की, 

पर कभी बिन आवाज़ के सब कुछ टूट जाता है।।


Gam Shayari Photo


Gam Shayari Photo: बदलते हुए लोगों के बारे में

आखिर क्या कहु में

मैने तो अपना ही प्यार

किसी ओर का होता देखा हैं.


Gam Bhari Shayari- www.topics-guru.com


बेनाम सा ये दर्द ठहर क्यों नहीं जाता

जो बीत गया है वह गुज़र क्यों नहीं जाता.



कभी रो के मुस्कुराए, 

कभी मुस्कुरा के रोए, 

जब भी तेरी याद आई तुझे भुला के रोए, 

एक तेरा ही तो नाम था जिसे हजार बार लिखा, 

जितना लिख के खुश हुए उस से ज्यादा मिटा के रोए।।



कैसे करें बयाँ तुझसे दर्द की इन्तहा को अब्बास

अपनी ही निगाहों की नमी देख कर रो पड़े आज हम..!!

Gam Shayari


Gam Shayari: तुम्हारे जीवन में मेरा छोटासा क़िरदार है, 

बस तुम जित गए में निभातें निभातें हार गया ||


Gam Bhari Shayari- www.topics-guru.com


गुलशन की बहारों पे सर-ए-शाम लिखा है,

फिर उस ने किताबों पे मेरा नाम लिखा है,

ये दर्द इसी तरह मेरी दुनिया में रहेगा,

कुछ सोच के उस ने मेरा अंजाम लिखा है।



नाराजगी चाहे कितनी भी क्यों ना हो,

पर तुझे छोड़ देने का ख्याल हम आज भी नहीं रखते….||



पता है तकलीफ क्या है

किसी को चाहना

फिर उसे खो देना

और खामूश हो जाना.


Shayari Gam Bhari


Shayari Gam Bhari: दिल कही लगता ही नहीं आप के बिना.

चुपचाप पड़े से रहने लगे है आप के बिना.

जल्दी से वापस आओ वरना.

जी ना पाएंगे आप बिना.


Gam Bhari Shayari- www.topics-guru.com



टूट कर बिखर जाता है मेरा नाज़ुक सा दिल, 

जब कोई पूछता है क्या तुम ने भी किसी से प्यार किया था...!!



चेहरे अजनबी हो जाये तो कोई बात नही,

रवैये अजनबी हो जाये तो बडा दर्द होता है….||



मोहब्बत तब ही करो

जब उसे निभा सको

बाद में मजबूरीरो का सहारा लेकर

किसी को छोड़ देना वफादारी नहीं होती.


दर्द भरी शायरी हिंदी में

दर्द भरी शायरी हिंदी में:  काश … उनको कभी फुर्सत में ये ख़याल आए…

कि कोई याद करता है उन्हें जिंदगी समझकर.



धडकनों को दर्द मिली इतनी.

जिसकी कोई दवा नहीं है.

फिर भी मै अपने आप में खुश हूँ.

जिंदगी से कोई शिकवा नहीं.


Gam Bhari Shayari- www.topics-guru.com


तक़दीर के आईने में मेरी तस्वीर खो गई,

आज हमेशा के लिए मेरी रूह सो गई,

मोहब्बत करके क्या पाया मैंने,

वो कल मेरी थी आज किसी और की हो गई….||



जुदाईयोँ के ज़ख़्म दर्द ए ज़िंदगी ने भर दिये

तुझे भी नींद आ गयी मुझी भी सबर आ गया.


Game Bhari Shayari


Game Bhari Shayari: मोहब्बत कि ज़ंज़ीर से डर लगता हे,

कुछ अपनी तफलीक से डर लगता हे.

जो मुझे तुजसे जुदा करते हे,

हाथ कि वो लकीरो से डर लगता हे.




दिल ? के सागर में लहरे ?‍? उठाया ना करो !!

ख़्वाब बनकर नींद ?️ चुराया ना करो !!

बहुत चोट ? लगती है मेरे दिल ? को !!

तुम ख्वाबो में आकर ? तड़पाया ना करो !!


Gam Bhari Shayari- www.topics-guru.com


वो रो रो कर कहते रहे मुझे नफरत है तुमसे, 

मगर एक सवाल आज भी परेशान किये हुए हैं, 

कि अगर नफरत ही थी तो वो इतना रोये क्यों।।


पत्थरों से प्यार किया नादान थे हम, 

गलती हुई क्यू की इंसान थे हम, 

आज जिन्हे नजरे मिलाने में तकलीफ होती है, 

कभी उसी शख्स की जान थे हम।।


दर्द शायरी हिंदी


दर्द शायरी हिंदी: कल उसकी याद पूरी रात आती रही,

हम जागे पूरी दुनिया सोती रही !

आसमान में बिजली पूरी रात होती रही,

बस एक बारिश थी जो मेरे साथ रोती रही.. !!



बाते तो बहुत करते हो, इश्क-ओ-ख़ुलूस की तुम

ज़रा अपने दिल में तो देख लो मैं हु भी या नहीं….||



मयखाने से पूछा आज इतना सन्नाटा क्यों है,

बोला साहब लहू का दौर है शराब कौन पीता है।


Gam Bhari Shayari- www.topics-guru.com





फूलों मे अक्सर कांटे होते हैं,

प्यार करने वाले अक्सर रोते हैं,

तड़पते है िदवाने तमाम उमर,

और तड़पाने वाले चैन से सोते हैं….||


Dard Bhari Shayari In Hindi 160


Dard Bhari Shayari In Hindi 160: हमे तो अपनों ने मारा गैरो में कहाँ दम था, 

हमे तो अपनों ने मारा गैरो में कहाँ दम था, 

मेरी कश्ती भी वहां डूबी जहाँ पानी कम था।।



एहसान मानो दिल का, तुमसे प्यार किया।

दिल देकर तुमको, तुमसे दर्द लिया।।



चेहरे अजनबी हो जाये तो कोई बात नही,

रवैये अजनबी हो जाये तो बडा दर्द होता है….||


Dard Bhari Shayari Image Download


Dard Bhari Shayari Image Download: अब दिल नहीं रोता

अब इसे प्यार नहीं होता.

Gam Bhari Shayari- www.topics-guru.com



किसी की याद दिल में आज भी है

वो भूल गए मगर हमें प्यार आज भी है,

हम खुश रहने की कोशिश तो करते हैं मगर,

अकेले में आंसू बहते आज भी हैं….||



ख़ुशी से दिल को आबाद करना, 

गम को दिल से आज़ाद करना, 

बस इतनी गुजारिश है आपसे की, 

हो सके तो दिन में एक बार याद करना।।



मुझे ? भी पता है कि तुम ?‍? मेरी नही हो !!

इस बात का बार बार ? एहसास मत दिलाया करो !!


दर्द भरे शायरी हिंदी में


दर्द भरे शायरी हिंदी में: आँखों से नींद उड़ा डाले हैं आपने।

गैरे से प्यार की बातें बना डाले हैं आपने।।


Gam Bhari Shayari- www.topics-guru.com


ना जाने क्यूँ नज़र लगी ज़माने की,

अब वजह मिलती नहीं मुस्कुराने की,

तुम्हारा गुस्सा होना तो जायज़ था,

हमारी आदत छूट गयी मनाने की..



इंसानों के कंधे पर इंसान जा रहे हैं,

कफ़न में लिपट कर कुछ अरमान जा रहे हैं,

जिन्हें मिली मोहब्बत में बेवफ़ाई,

वफ़ा की तलाश में वो कब्रिस्तान जा रहे हैं...



कहने वालों का कुछ नहीं जाता​

सहने वाले कमाल करते हैं

कौन ढूंढें जवाब दर्दों के​,

लोग तो बस सवाल करते है।

गम भरी शायरियां


गम भरी शायरियां: आज फिर तेरी याद आयी बारिश को देख कर,

दिल पे ज़ोर न रहा अपनी बेबसी को देख कर,

रोये इस कदर तेरी याद में,

कि बारिश भी थम गयी मेरी बारिश को देख कर….||



उलझी शाम को पाने की ज़िद न करो,

जो ना हो अपना उसे अपनाने की ज़िद न करो,

इस समंदर में तूफ़ान बहुत आते है,

इसके साहिल पर घर बनाने की ज़िद न करो….||



अनजाने में यूँ ही हम दिल गँवा बैठे,

इस प्यार में कैसे धोखा खा बैठे,

उनसे क्या गिला करें, भूल तो हमारी थी,

जो बिना दिल वालों से ही दिल लगा बैठे….||



हंसने के बाद क्यों रुलाती है दुनियां,

जाने के बाद क्यों भुला देती है ये दुनियां,

जिंदगी में क्या कोई कसर बाकी थी,

जो मरने के बाद भी जला देती है ये दुनियां.



पीते थे शराब हम उसने छुड़ा दी अपनी कसम दे कर ।

महफ़िल ममें गए थे हम यारों ने पिलादी उसकी कसम दे कर ।।



मेरे इस दर्द की वजह भी वो हैं,

और मेरे दर्द की दवा भी तो वो हैं,

वो नमक ज़ख्मों पे लगाते हैं तो क्या,

मोहब्बत करने की वजह भी तो वो हैं….||



दर्द बन के दिल में छुपा कौन है,

रह रह कर इसमें चुबता कौन है,

एक तरफ दिल है और एक तरफ आइना,

देखना है इस बार पहले टूटता कौन हो.



प्यार ? अगर सच्चा हो तो हर नाजायज रिश्ता जायज बन जाता है !!

और जहां प्यार ? ही नही वहाँ हर जायज रिश्ता भी बेईमानी हो जाती है !!



तन्हाई मेरे दिल में समाती चली गयी, 

किस्मत भी अपना खेल दिखाती चली गयी, 

महकी हुई फ़िज़ा में देखा जो प्यार को बस, 

याद उनकी आई और रुलाती चली गई।।



हम मुसाफिर है एक नहीं है हमारी बस्ती।

हम तुमसे कैसे दिल लगाये नहीं है हमारी कोई हस्ती।।



रोज़ अपनी आँखों को सुला देते है हम,

ये बहाना करके की कल सनम का दीदार होगा!



दर्द होता है उस पल का.

जब अपनी पसंद कोई और ही चुरा लेता है.

सपने हम देखते है.

और हकीकत उसे कोई और बना लेता है.



छोड़ दिया सबको बेवजह परेशान करना,

जब कोई अपना समझता ही नहीं

तो उसे अपनी याद दिलाकर क्या करना.



नजरों से करके कत्ल मेरे जिगर का।

दोबारा हाल न पूछो अपने दिलवर का।।



माना कि तुझको मै हासिल ना कर सका,

मोहब्बत थी तुझसे बयां ना कर सका,

लेकिन किसी को पा लेना ही मोहब्बत नहीं होता,

चाहे मै तेरे काबिल ना बन सका।



अगर ? मेरी बात बुरी लगी हो तो !!

दुआओ ? में मेरे लिये मौत ? मांग लेना !!


पीते थे शराब हम उसने छुड़ा दी अपनी कसम दे कर

महफ़िल ममें गए थे हम यारों ने पिलादी उसकी कसम दे कर !!



सब सो गए अपना दर्द अपनों को सुना के,

कोई होता मेरा तो मुझे भी नींद आ जाती !!



कभी सोचा है तुमने, 

जब तुम्हारी शादी होगी, 

किधर शहनाई बजेगी, 

किधर बर्बादी होगी।।



वो मुझे जलाती है, 

तो मैं जलता रहूँगा।

खुश रहे वो, 

मैं मरते दम तक कहता रहूँगा।।



प्रेम करके हमने क्या पाया है,

बस अपना समय किया जाया है,

इश्क़ किया जिससे ज़हां से ज़्यादा,

उससे हमने बस धोखा खाया है.



ना ? मौत मिलती है !!

ना ? ज़िन्दगी मिलती है !!

ज़िन्दगी के सफर में ? बेबसी मिलती है !!

रुला ?️ देते है क्यो मेरे अपने !!

जब भी कोई ? खुशी मिलती है !!



हिचकियाँ रात दर्द तन्हाई

आ भी जाओ तसल्लियाँ दे दो.



एक बात याद रखना, 

तेरी ख़ामोशी टूटेगी,

तेरी आँखों से नींद भी रूठेगी।।



कमाल का शक्स था

जिसने ज़िन्दगी तबाह कर दी,

राज़ की बात है दिल उससे आज भी खफा नहीं….||



न जाने क्यों ये ज़ख़्म अभी भी भर्ती नहीं,

इश्क की चोट खाये तोह एक ज़माना गुज़र गया...!



एक बात पूछू जवाब ? मुस्कुरा कर देना !!

मुझे ? रुला कर तुम खुश ? तो हो ना !!



रेत पर नाम कभी हम लिखते नहीं.

रेत पर लिखे नाम कभी टिकते नहीं.

तुम कहते हो हम पत्थर दिल है.

पर पत्थर पर लिखे नाम कभी मिटे नहीं.



कहाँ कोई मिला ऐसा जिसपे दिल लुटा देते,

हर एक ने धोखा दिया किस किसको भुला देते,

अपने दर्द को दिल ही में दवाये रखा,

करते बयां तो महफ़िलों को रुला देते।



अब ये हसरत है कि सीने से लगाकर तुझको

इस कदर रोऊँ की आंसू आ जाये ..!!



“ना मुस्कुराने को जी चाहता है,

ना आंसू बहाने को जी चाहता है,

लिखूं तो क्या लिखूं तेरी याद में,

बस तेरे पास लौट आने को जी चाहता है.”



अब टूट गया ? दिल तो बबाल क्या करे !!

खुद ?‍? ही किया था पसंद ? अब सवाल क्या करे !!



अँधेरा मिटा कर शहर छोड़ जाऊंगा

एक रोज़ फिर तेरा शहर छोड़ जाऊंगा ।



मैं तन्हाई को तन्हाई में तनहा कैसे छोड़ दूं,

तन्हाई ने तन्हाई में तनहा मेरा साथ दिया है...!!



सुना है दिल से याद करो तो खुदा भी आ जाते है,

हमने तो साँसों को भी दाव पर लगा दिया फिर भी अकेले रह गए!!



जिस जिस ने मुहब्बत में,

अपने महबूब को खुदा कर दिया,

जिस जिस ने मुहब्बत में,

अपने महबूब को खुदा कर दिया,

खुदा ने अपने वजूद को बचाने के लिए,

उनको जुदा कर दिया|




कोई कहता है दुनिया ? प्यार से चलता है !!

कोई कहता है दुनिया ? दोस्ती से चलता है !!

जब ?‍? आजमाया तो पता चला !!

दुनिया तो मतलब ? से चलता है !!



वक्त आता है और चला जाता है,

इसका इन्तज़ार और ऐतवार मत करना।

जो जुदा होकर भी बार-बार याद आये,

ऐसे महबूब का एतबार मत करना।।







Last Word


दोस्तों  आज हम इस आर्टिकल में बात किया हैं "Gam Bhari Shayari" के बारेमे . 


दोस्तो मुझे उम्मीद है कि आपको हमारा ये  Gam Bhari Shayari पसंद आयी होंगी. आप अपने दोस्तों और  प्रियजनों के साथ Facebook & Whatsapp शेयर कर सकते हैं।

आपके पसंदिता कोनसा है Gam Bhari Shayari ?

कमेंट करके जरुर बताना.