{*BEST*} 550+ जबरदस्त बेवफाई शायरी

जबरदस्त बेवफाई शायरी इस्तेमाल करे जबरदस्त बेवफाई शायरी, बेवफाई शायरी हिंदी में, बेवफा शायरी इन हिंदी, बेवफाई की शायरी, बेवफा शायरी फेसबुक, बेवफा शायरी २ लाइन, बेवफा दोस्ती शायरी और इस के साथ बेवफा मोहब्बत स्टेटस आपके सोशल स्टेटस के लिए.


जसा की अप सभी जानते हैं हमारा ब्लॉग Topics-guru हर हप्ते आपके लिए कुछ नया जानकारी लेके आते है, वो Shayari हो या Quotes हो या फिर Slogan हो या  Captions  हो. और दोस्तों अगर अपने हमारे ब्लॉग को   SUBSCRIBE नही किया हैं अभी तक तो  SUBSCRIBE जल्दी कर लीजिये नया पोस्ट के आनंद पाने के लिए.


{*BEST*} 550+ जबरदस्त बेवफाई शायरी 





जबरदस्त बेवफाई शायरी: कभी करवा चौथ पर दीदार
कभी ईद पर इंतज़ार,
ऐ चांद बता तेरा मज़हब क्या है
तू सबका है, तो ज़मीं पर ये तमाशा क्या है।



मैंने भी किसी से प्यार किया था
उनकी रहो में इंतजार किया था
हमें क्या पता वो भूल ज्यांगे हमें
कसूर उनका नहीं मेरा ही था
जो एक बेवफा से प्यार किया था !!



दिल तो रोता रहे ओर आँख से आँसू न बहे 
इश्क़ की ऐसी रिवायात ने दिल तोड़ दिया 
हम से पूछो न दोस्ती का सिला दुश्मनों का भी दिल हिला देगा.



जबरदस्त बेवफाई शायरी-  www.topics-guru.com




जबरदस्त बेवफाई शायरी 



मेरी तन्हाई, मेरा दर्द और यादें उसकी,
हर रात एक तकिये पर इकठ्ठे होते हैं।



बेवफा से दिल लगा लिया नादान थे हम, 
गलती हमसे हुई क्योंकि इंसान थे हम, 
आज जिन्हें नज़रें मिलाने में तकलीफ होती है, 
कुछ समय पहले उनकी जान थे हम.



तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी,
बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी।

बेवफाई शायरी हिंदी में



बेवफाई शायरी हिंदी में: इतनी मुश्किल भी न थी राह मेरी मोहब्बत की,
कुछ ज़माना खिलाफ हुआ कुछ वो बेवफा हुए।



मुझे उसके आँचल का आशियाना न मिला,
उसकी ज़ुल्फ़ों की छाँव का ठिकाना न मिला,
कह दिया उसने मुझको ही बेवफा…
मुझे छोड़ने के लिए कोई बहाना न मिला।


जबरदस्त बेवफाई शायरी-  www.topics-guru.com


वो एक रात जला तो उसे चिराग कह दिया
हम बरसों से जल रहें हैं कोई तो खिताब दो



तेरी मीठी मीठी यादें भी
बड़ा कमाल करती हैं
रात में सोने नहीं देतीं
और फिर सुबह उठते ही   हज़ार सवाल करती हैं.



ये उनकी मोहब्बत का नया दौर है,
जहाँ कल मैं था आज कोई और है।

बेवफा शायरी इन हिंदी



बेवफा शायरी इन हिंदी: मिलता ही नहीं तुम्हारे जैसा कोई और इस शहर मैं-----!!!
हमें क्या मालूम था कि तुम एक हो और वो भी किसी और के----



उनकी नजर मै फर्क आज भी नहीं,
पहले मुड़ कर देखते थे,
अब देख कर मुड़ जाते है।


जबरदस्त बेवफाई शायरी-  www.topics-guru.com



मुझे शिकवा नहीं कुछ तेरी बेवफ़ाई का,
गिला तो तब हो अगर तूने वफ़ा निभाई हो।



वो बेवफा हर बात पे देता है परिंदों की मिसाल,
साफ साफ नहीं कहता मेरा शहर छोड़ दो।


वो सुना रहे थे अपनी वफाओं के किस्से,
हम पर नजर पड़ी तो खामोश हो गये।

बेवफाई की शायरी



बेवफाई की शायरी: आशिकों की किस्मत में जुदा होना ही
लिखा होता है, सच्चा प्यार होता है तो
दिल को खोना भी लिखा होता है,
सब जानते हुए भी में भी प्यार उससे
कर बैठा, भूल गया के मोहब्बत में सिर्फ
रोना ही लिखा होता है।



उसकी बेवफाई पे भी फ़िदा होती है जान अपनी,
अगर उस में वफ़ा होती तो क्या होता खुदा जाने।

जबरदस्त बेवफाई शायरी-  www.topics-guru.com




तुम्हें सोच कर जो हम मुस्करातें है  !!
       ❤ वो तुम हो ❤
  तुम्हें याद करके  रात भर जागते है !!
       ❤ वो तुम हो ❤
तुम्हें ख्वाबों में नही एहसासों में समाया है !!
        ❤ वो तुम हो  ❤
    सिर्फ  तुम



नसीब बन कर कोई ज़िन्दगी में आता है,
फिर ख्वाब बन कर आँखों में समा जाता है,
यकीन दिलाता है कि वो हमारा ही है,
फिर ना जाने क्यों वक़्त के साथ बदल जाता है। 

बेवफा शायरी फेसबुक



बेवफा शायरी फेसबुक: वो करीब ही न आये तो 
इज़हार क्या करते,
खुद बने निशाना तो 
शिकार क्या करते,
मर गए पर खुली रखी आँखें,
इससे ज्यादा किसी का 
इंतजार क्या करते।


हमारे हर सवाल का सिर्फ एक ही जवाब आया,
पैगाम जो पहूँचा हम तक, बेवफा इल्जाम आया।



वो सुना रहे थे अपनी वफाओ के किस्से,
हम पर नज़र पड़ी तो खामोश हो गए।
जबरदस्त बेवफाई शायरी-  www.topics-guru.com



कुछ उलझे सवालो से डरता हे दिल
जाने क्यों तन्हाई में बिखरता हे दिल
किसी को पाने कि अब कोई चाहत न रही
बस कुछ अपनों को खोने से डरता हे ये दिल


सामान बाँध लिया है मैंने भी अब बताओ दोस्त,
वो लोग कहाँ रहते है जो कहीं के नहीं रहते।


बेवफा शायरी २ लाइन


बेवफा शायरी २ लाइन: #भूख_प्यास मन्नै लागदी कोन्या बस #मजा आवै 👉तेरी👩बाता मै,..
तु करकै #Net_बंद सोज्या स...
मै तेरे #Photo देखूं राता नै !!




नफरतें लाख मिलीं पर मोहब्बत न 
मिली, जिंदगी बीत गयी मगर राहत न 
मिली, तेरी महफ़िल में हर एक को हँसता 
देखा, एक मैं था जिसे हँसने की इजाज़त न
मिली।


जब भी वो उदास हो उसे मेरी कहानी सुना देना,
मेरे हालात पर हँसना उसकी पुरानी आदत है।


हमें तो कबसे पता था की तू बेवफ़ा है!
तुझे चाहा इसलिए कि शायद तेरी फितरत बदल जाये!!

जबरदस्त बेवफाई शायरी-  www.topics-guru.com




कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है,
कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है,
पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से,
तो प्यार जीने की वजह बन जाता है।


महफ़िल में गले मिल के वो धीरे से कह गए,
ये दुनिया की रस्म है मोहब्बत न समझ लेना।


बेवफा दोस्ती शायरी


बेवफा दोस्ती शायरी: निकलते है तेरे आशिया के आगे से,
सोचते है की तेरा दीदार हो जायेगा,
खिड़की से तेरी सूरत न सही तेरा
साया तो नजर आएगा।


जब तक न लगे ठोकर बेवाफ़ाई की,
हर किसी को अपनी पसंद पर नाज़ होता है।



पत्थर की दुनिया जज़्बात नही समझती,
दिल में क्या है वो बात नही समझती,
तन्हा तो चाँद भी सितारों के बीच में है,
पर चाँद का दर्द वो रात नही समझती।



आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए !
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए !
करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो !
पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए !!



मौत से इसलिए भी डरता हूँ कि उस ऊपरवाले को क्या मुँह दिखाऊंगा....!!
क्योकि यहाँ मैँने खुदा किसी और को माना था....!!

जबरदस्त बेवफाई शायरी-  www.topics-guru.com


बेवफा मोहब्बत स्टेटस



बेवफा मोहब्बत स्टेटस: मिल जायेगा हमें भी कोई टूट कर चाहने वाला !
अब शहर का शहर तो बेवफा नहीं हो सकता !!



कैसे यकीन करें हम तेरी मोहब्बत का,
जब बिकती है बेवफाई तेरे ही नाम से।





हमे पछाड़ के क्या हैसियत तुम्हारी थी वो जंग तुम भी ना जीते जो हमने हारी थी
ओर अब तुम्हे भी हर शक्श अच्छा लगता है गए दिनों में यही कैफियत हमारी थी।




तुम्हारे बाद मेरा कौन बनेगा हमदर्द
मैंने अपने भी खो दिए
तुझे पाने की ज़िद में।


बंद कर देना खुली आँखों को मेरी आ के तुम,
अक्स तेरा देख कर कह दे न कोई बेवफा।




मोहब्बत से भरी कोई गजल उसे पसंद नहीं,
बेवफाई के हर शेर पे वो दाद दिया करते हैं..!!



बड़ी आसानी से दिल लगाये जाते हैं,
पर बड़ मुश्किल से वादे निभाए जाते हैं,
ले जाती है मोहब्बत उन राहो पर,
जहा दिए नही दिल जलाए जाते हैं।


जाते-जाते उसके आखिरी अल्फाज़ यही थे,
जी सको तो जी लेना मर जाओ तो बेहतर है।


जबरदस्त बेवफाई शायरी-  www.topics-guru.com




कैसे बयान करू अलफ़ाज़ नहीं है,
दर्द का मेरे तुझे एहसास नहीं है,
पूछते हो मुझसे क्या दर्द है तुझे?
दर्द यह है के तू मेरे पास नहीं है…




ना तस्वीर है तुम्हारी जो दीदार किया जाये,
ना तुम हो मेरे पास जो प्यार किया जाये,
ये कौन सा दर्द दिया है तुमने ऐ सनम,
ना कुछ कहा जाये ना तुम बिन रहा जाये।



लोग आये थे मेरी जायदाद की तलाशी लेने,
उनको बस तकिये के नीचे से तेरी तस्वीर मिली।


मैं फ़ना हो गया अफ़सोस वो 
बदला भी नहीं,
मेरी चाहतों से भी अच्छी रही 
नफरत उसकी।


तुम्हारी दुनिया से जाने के बाद;
हम तुम्हें हर एक तारे में नज़र आया करेंगे;
तुम हर पल कोई दुआ माँग लेना;
और हम हर पल टूट जाया करेंगे।




मेरी मोहब्बत भी अजीब थी,
कभी सब कुछ मिला बिना तलब के,
तो कभी कुछ ना मिला सवाल पर।



आप सफलता तब तक नहीं प्राप्त कर सकते,
जब तक आप में असफल होने का साहस न हो!



ये मेरा इश्क, औरों सा नहीं,
तन्हा रहूँगा.. फिर भी तेरा ही रहूँगा....

हम तेरे प्यार में कुछ ऐसा काम कर जायँगे
लोग देखेंगे तुझे और याद हम आएंगे..

ये उनकी मोहब्बत का नया दौर है,
कल तक जहाँ मै था
आज वहाँ कोई और है!



प्यासो रहो न दश्त में बारिश के मुंतज़िर....
मारो ज़मीं पे पाँव कि पानी निकल पड़े....


पैर को लगने वाली चोट संभल कर चलना सिखाती है
और मन को लगने वाली चोट समझदारी से जीना
सिखाती है।


बणकै फकीर बैठया हूं जिस खातर वाये मेरे ती आके नू कहण लागी.,
बाबा दुआ करये मनअ मेरे महबूब मिलज्या




#Ufffff...
...#कल ही की थी....#महोब्बत से #तौबा....*
#आज फिर #आपकी___तस्वीर देखकर
#नीयत__बदल गई.....🖋







मेरी जान____मुझ पर ना अब जुल्म ढाओ....!!
दिल के मरीज हो गये हैं अब तो आ जाओ....!!





यक़ीनन "मोहब्बत" की शुरुवात..."नजरो" से ही होती है.....*:
*हो अगर "लफ्जो" में नजाकत...तो "नजरे" भी घायल होती है......💘*



तुमने बस कहानी सुनी है और पागल हो गए
यह अफसाना जिस पे बीता उसका हाल क्या होगा





सब कुछ मिला सुकून की दौलत नहीं मिली,
एक तुझको भूल जाने की मौहलत नहीं मिली,
करने को बहुत काम थे अपने लिए मगर,
हमको तेरे ख्याल से कभी फुर्सत नहीं मिली।




झूठ बोलकर भरोसा तोड़ने से अच्छा है, सच बोलकर रिश्ता तोड़ लिया जाए, 
रिश्ता फिर जुड़ जाएगा, भरोसा कभी नहीं जुड़ता.




आज इतना जहर पिला दो कि सांस तक रुक जाए मेरी....
सुना है कि सांस रुक जाए तो रूठे हुये देखने आते है....




ये दिल न जाने क्या कर बैठा
मुझसे बिना पूछे ही फैसला कर बैठा
इस ज़मीन पर टूटा सितारा भी नहीं गिरता
और ये पागल चाँद से मोहब्बत कर बैठा




जल-जल के दिल मेरा जलन से जल रहा, एक अश्क मेरे आँख में मुद्दत से पल रहा, 
जिसका मैं कर रहा हूँ घुट-घुट के इंतजार, वो बेवफा ना आई मेरा दम निकल रहा.











Last Word


दोस्तों  आज हम इस आर्टिकल में बात किया हैं "जबरदस्त बेवफाई शायरी" के बारेमे . 


दोस्तो मुझे उम्मीद है कि आपको हमारा ये  जबरदस्त बेवफाई शायरी पसंद आयी होंगी. आप अपने दोस्तों और  प्रियजनों के साथ Facebook & Whatsapp शेयर कर सकते हैं।

आपके पसंदिता कोनसा है जबरदस्त बेवफाई शायरी?

कमेंट करके जरुर बताना.