Two Line Shayari

Two Line Shayari  इस्तेमाल करे Two Line Shayari, 2 Line Shayari, Best Two Line Shayari Ever, हिंदी शायरी दो लाइन, दो लाइन शायरी, हिंदी शायरी दो लाइन Love, सैड शायरी हिंदी 2 Line और  इस के साथ Awesome Two Line Shayari In Hindi आपके सोशल स्टेटस के लिए.


जसा की अप सभी जानते हैं हमारा ब्लॉग Topics-guru हर हप्ते आपके लिए कुछ नया जानकारी लेके आते है, वो Shayari हो या Quotes हो या फिर Slogan हो या  Captions  हो. और दोस्तों अगर अपने हमारे ब्लॉग को   SUBSCRIBE नही किया हैं अभी तक तो  SUBSCRIBE जल्दी कर लीजिये नया पोस्ट के आनंद पाने के लिए.

 

और आप चाहे तो इस पोस्ट / आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ और सोशल मीडिया में, जसा की Facebook और Whatsapp पर भी शेयर कर सकते हैं.


Two Line Shayari 




two Line Shayari: उसकी दर्द भरी आँखों ने जिस जगह कहा था अलविदा

आज भी वही खड़ा है दिल उसके आने के इंतज़ार में..!!

`


उनसे कहना अपनी किस्मत पे गुरूर अच्छा नहीं होता,

हम ने बारिश में भी जलते हुए घर देखे हैं।



ऐ जिंदगी तू खेलती बहुत है खुशियों से,

हम भी इरादे के पक्के हैं मुस्कुराना नहीं छोडेंगे!!

2 Line Shayari- Two Line Shayari- www.Topics-guru.com


2 Line Shayari


वो कहने लगी, नकाब में भी पहचान लेते हो हजारों के बीच ?

मैंने मुस्करा के कहा,

तेरी आँखों से ही शुरू हुआ था इश्क हज़ारों के बीच..



वो कहते हैं सोच लेना था मुहब्बत करने से पहले।

अब उनको कौन समझाए सोच कर तो साजिश

की जाती हैं मुहब्बत नहीं।


कर ली न तसल्ली तुम ने दिल तोड़ कर मेरा,

कहाँ था न कुछ नही है इसमें तुम्हारे सिवा..



तेरा ईगो तो दो दिन की कहानी है ..

लेकिन अपनी अकड़ तो बचपन से ख़ानदानी है..


Two Line Shayari

2 Line Shayari- Two Line Shayari- www.Topics-guru.com


Two Line Shayari: रिश्ता तो रहा है हमेशा हमारे बीच, 

कल अपनेपन वाला था आज मुजिरमों वाला है।




अर्ज़ किया है-

   हम दूर गए तुमसे ये सोचकर,

   कि वफ़ा-ए मोहब्बत कम होगी .

   पर ये ना पता था हमें कि ,

   दूरियों में भी आँखे नम होगी . 



ज़िंदगी की दौड़ मे कौन देता है उम्र भर का सहारा,

लोग तो जनाज़े में भी कंधे बदलते रहते हैं!!



क़्या लूटेगा जमाना खुशीयो को हमारी,

हम तो अपनि खुशिया

दूसरो पर लूटा के जिते है!.


Best Two Line Shayari Ever

2 Line Shayari- Two Line Shayari- www.Topics-guru.com


Best Two Line Shayari Ever: परख अगर हीरे की करनी है तो कभी अंधेँरे मे मिलो, ऐ दोस्त,

वरना धुप मे तो काँच के टुकडे भी चमकते है……



कयामत टूट पड़ती है ज़रा से होंठ हिलने पर …

ना जाने क्या हश्र होगा अगर वो मुस्कुराये तो…



लोग सौ रंग बदलते है हसीन चेहरे को लुभाने के लिए,

और हम अश्क बहाते है एक चेहरे को भुलाने के लिए



जब कभी टूट कर बिखरो तो बताना हमको;

हम तुम्हें रेत के जर्रों से भी चुन सकते हैं।


2 Line Shayari- Two Line Shayari- www.Topics-guru.com


हिंदी शायरी दो लाइन


हिंदी शायरी दो लाइन: कहाँ तनहा होता हूँ मैं 

इस अन्धेरी रात मेंतेरी याद संग रहती है 

आंसू बनकर पलकों के साथ में



दो शब्दों में सिमटी है मेरी मुहब्बत की दास्तान,

उसे टूट कर चाहा और चाह कर टूट गये।


उसने हर नशा सामने लाकर रख दिया और कहा,

सबसे बुरी लत कौन सी हैं, मैने कहा तेरे प्यार की



सोचता हूँ गुलशन मे कांटो के साथ बबूल भी होगे,

क्या हुआ अगर उसने बेवफाई की उसके अपने उसूल भी होगे!!


दो लाइन शायरी

2 Line Shayari- Two Line Shayari- www.Topics-guru.com


दो लाइन शायरी: सामने बैठे रहो दिल को करार आएगा ,

जितना देखेंगे तुम्हे उतना ही प्यार आएगा ..



रहेगा किस्मत से यही गिला ज़िंदगी भर,

जिसको पल पल चाहा उसी को पल पल तरसे!!


ख़्वाबों को तो अक्सर हकीकत की ज़मीन पर ही रक्खा है,

ये बदबख्त अरमान चले गए आसमानों की दहलीज़ परे !!



तैरना तो आता था हमे मोहब्बत के समंदर मे लेकिन…

जब उसने हाथ ही नही पकड़ा तो डूब

जाना अच्छा लगा…


हिंदी शायरी दो लाइन Love

2 Line Shayari- Two Line Shayari- www.Topics-guru.com


हिंदी शायरी दो लाइन Love: सोच  कर  रखना  हमारी  सल्तनत  में  क़दम  …

हमारी  ”मोहोबत ” की  क़ैद  में  ज़मानत  नहीं  होती



मैं तुम्हें अपने हर्फों से निकाल के इक ख्याल देता हूँ 

मेरी जिंदगी बेश्क उलझी हो तुम्हारी जिंदगी सँवार देता हूँ

मैं नही लिख पाऊंगा कुछ,

शब्द कम, इश्क़ ज्यादा है..



शायरी उसी के लबों पर सजती है…

साहिब जिसकी आँखों में इश्क है !!


सैड शायरी हिंदी 2 Line

2 Line Shayari- Two Line Shayari- www.Topics-guru.com


सैड शायरी हिंदी 2 Line: ​​​मैंने कहा बहुत प्यार आता है तुम पर;​

वो मुस्कुरा कर बोले और तुम्हे आता ही क्या है।


मुझे जिंदगी का इतना तजुर्बा तो नहीं,

पर सुना है सादगी में लोग जीने नहीं देते..!!


तरस आता है मुझे अपनी मासूम सी पलकों पर,

जब भीग कर कहती हैं कि अब रोया नहीं जाता।



ख्वाहिशों का मोहल्ला बहुत बड़ा होता है,

बेहतर है हम जरूरतों की गली में मुड़ जाएं।



Awesome Two Line Shayari In Hindi

2 Line Shayari- Two Line Shayari- www.Topics-guru.com


Awesome Two Line Shayari In Hindi:

खिलौना समझ कर तोड़ गए हमे,

कभी अपना वफ़ा का गौंद लेकर

हमे जोड़ने भी आओ . 



होने वाले ख़ुद ही अपने हो जाते हैं,

किसी को कहकर अपना बनाया नहीं जाता।



अंदाजा नही है किसी को ” जख्म का ” !!

बस मिट्टी हटाके नमक छिड़कने आ जाते है !!



आँखे कहती है की सोने दे,

और दिल कहता है की रोने दे॥


Two Line Shayari Collections Hindi

2 Line Shayari- Two Line Shayari- www.Topics-guru.com


two line shayari collections hindi: जब जीवन आपको कहानी देता है, 

तो अपनी फिल्म बनाओ। 



वक़्त वक़्त की मोहब्बत है वक़्त वक़्त की रूसवाईयां,

कभी पंखे सगे हो जाते हैं तो कभी रजाईयां।



जिनकी दोस्ती सच्ची है,

वो कब फ़रियाद करते है….?

जुबान खामोश होती है,

मगर दिल से याद करते है….!



मै और उसको भूल जाऊं?? कैसी बात करते हो ,,

सूरत तो फिर भी सूरत है वो नाम भी बहुत प्यारा लगता है .


Two Line Shayari Romantic

2 Line Shayari- Two Line Shayari- www.Topics-guru.com


two line shayari romantic: जब भी वो उदास हो उसे मेरी कहानी सुना देना .

मेरे हालात पर हंसना उसकी पुरानी आदत है….



जिसकी कफस में आँख खुली हो मेरी तरह,

उसके लिये चमन की खिजाँ क्या बहार क्या।



आंसू निकल पडे ख्वाब मे उसको दूर जाते देखकर..!!

आँख खुली तो एहसास हुआ इश्क सोते हुए भी रुलाता है..!!


हज़ारों साल नर्गिस अपनी बे-नूरी पे रोती है,

बड़ी मुश्किल से होता है चमन में दीदावर पैदा।



Har Kisike Liye Waqt Hai Uske Paas Bas

Ek Mere Liye Hi Nahi Hai..!



तरक्की की फसल, हम भी 'काट' लेते,

थोड़े से तलवे अगर 'हम' भी चाट लेते।


2 Line Shayari- Two Line Shayari- www.Topics-guru.com



तुझे याद कर लूं तो मिल जाता है सुकून दिल को,

मेरे गमों का इलाज भी कितना सस्ता है ….




तहज़ीब में भी उसकी क्या ख़ूब अदा थी यारो,

नमक भी उसने अदा किया तो ज़ख़्मों पर छिड़क कर!!



सिर्फ लफ़्ज़ों को न सुनो, कभी आँखें भी पढो ..

कुछ सवाल बड़े खुद्दार हुआ करते है…



हुआ सवेरा तो हम उनके नाम तक भूल गए

जो बुझ गए रात में चरागों की लौ बढ़ाते हुए।




पांवों के लड़खड़ाने पे तो सबकी है नज़र,

सर पे कितना बोझ है कोई देखता नहीं।




बिखरने दो होंठों पे हंसी के फुहारों को दोस्तों,

प्रेम से बात कर लेने से जायदाद कम नहीं होती..



ताला लगा दिया दिल को.. अब तेरे बिन किसी का अरमान नहीं..

बंद होकर फिर खुल जाए, ये कोई दुकान नहीं।




कितने बरसों का सफ़र ख़ाक हुआ ,,

उसने जब पूछा, कहो, कैसे आना हुआ..



अभी इतनी जल्दी क्या है मुझे छोड़ने की,

मेरी साँसें अभी बाकी हैं, और कोशिश करलो तोड़ने की…!!!



कल रात ज़िंदगी से मुलाक़ात हो गयी,

लब थरथरा रहे थे मगर बात हो गयी!!



अच्छा लगता हैं तेरा नाम मेरे नाम के साथ,

जैसे कोई खूबसूरत सुबह जुड़ी हो, किसी हसीन शाम के साथ!!



बे-दम हुए बीमार दवा क्यूँ नहीं देते,

तुम अच्छे मसीहा हो शिफ़ा क्यूँ नहीं देते।





यहाँ हर किसी को, दरारों में झाकने की आदत है,

दरवाजे खोल दो, कोई पूछने भी नहीं आएगा....!!!!




मेरे बटुए में तुम पाओगे अक्सर नोट खुशियों के,

मैं सब चिल्लर उदासी के अलग ‘गुल्लक’ में रखता हूं.‼




सुलग रहे है कब से मेरे, दिल में ये अरमान,

रोक ले अपनी बहो में तू, आज मेरे तूफ़ान |




ज़ख़्म खाने की कोई उम्र नहीं होती…

उम्र के अपने ज़ख़्म होते हैं…!!



जो इंसान आपको खुश रख सकता है,

उससे ज्यादा परफैक्ट आपके लिए कोई नहीं हो सकता!



तेरे एक-एक लफ्ज़ को हज़ार मतलब पहनाये हमने…

चैन से सोने ना दिया तेरी अधूरी बातों ने…



वो पत्थर कहाँ मिलता है बताना जरा ए दोस्त,

जिसे लोग दिल पर रखकर एक दूसरे को भूल जाते हैं।




कौन रोता है किसी और की ख़ातिर ऐ दोस्त

सब को अपनी ही किसी बात पे रोना आया


सुबह शाम जब देखो तेरा नाम लेता हूँ।

खुद को खुद से अपने दिल का पैगाम देता हूँ।।



सुनो!! दिल धड़कने लगता है ख़यालों से ही, 

ना जाने क्या हाल होगा मुलाक़ातों में.




Ek Rasta Yeh Bhi Hai Manzilon Ko Paane Ka,

Seekh Lo Tum Bhi Hunar Haan Mein Haan Milane Ka.



तारीफ़ अपने आप की करना फ़िज़ूल है,

ख़ुशबू खुद बता देती है कौन सा फ़ूल है।



यकीन था कि तुम भूल जाओगे मुझे.,

खुशी है कि तुम उम्मीद पर खरे उतरे.!



सिखा दी बेरुखी भी ज़ालिम ज़माने ने तुम्हें,

कि तुम जो सीख लेते हो हम पर आज़माते हो।




ये अलग बात है दिखाई न दे मगर शामिल जरूर होता है,

खुदकुशी करने वाले का भी कोई कातिल जरूर होता है।




कातिल… कोई अपना ही होगा साहेब…लाश जो… 

छाँव में पड़ी थीं…!!




खुद में हम कुछ इस कदर खो जाते हैं,

सोचते हैं आपको और आप ही के हो जाते हैं!!



दूरियाँ जब बढ़ी तो गलतफहमियां भी बढ़ गयी,

फिर तुमने वो भी सुना जो मैंने कभी कहा ही नहीं!!



कांटे तो नसीब में आने ही थे.!

फूल जो हमने गुलाब चुना था.!!



बहुत शराब,चढाता हुँ रोज, 

तब जाकर तुम, कहीं उतरती हो..



तेरी यादें हर रोज़ आ जाती है मेरे पास,

लगता है तुमने बेवफ़ाई नही सिखाई इनको..!!



शाम से आँख में नमी सी है

आज फिर आप की कमी सी है.



अपनी हार पर इतना शकून था मुझे,

जब उसने गले लगाया जीतने के बाद।



निकाल दिया उसने हमे अपनी ज़िंदगी से भीगे काग़ज़ की तरह,

ना लिखने के काबिल छोड़ा ना पढ़ने के!!



सूखे हुए पेड़ों को पानी से मत सीचो

खंडहर पर क्या गुजरी है उसके बीते हुए दिनों के बारे में मत पूछो.




जो दिलो में शिकवे और जुबान पर शिकायते कम रखते है,

वो लोग हर रिश्ता निभाने का दम रखते हैं…




रोज़गार है तो सोमवार है,

वर्ना सातों दिन रविवार है…



प्यासा मैं उनके प्यार का और प्यासा ही रह गया

चंद वक़्त देने की ख़ातिर हम सफ़र भर उनसे लड़ते रहे.



फूल की माला पहनाते हैं भगवान को।

लोग दोस्त भी बनाते हैं अनजान को।।



वो तो अपनी एक आदत को भी ना बदल सका..

जाने क्यूँ मैंने उसके लिए अपनी जिंदगी बदल डाली।




सिमट गया मेरा प्यार भी चंद अल्फाजों में,

जब उसने कहा मोहब्बत तो है पर तुमसे नहीं…




ख़्वाहिश ए ज़िंदगी बस इतनी सी है के, 

साथ तुम्हारा हो ओर ज़िंदगी कभी ख़त्म ना हो।




कुछ ज्यादा नही जानते मोहब्बत के बारे में,

बस उन्हें सामने देखकर मेरी तलाश खत्म हो जाती है!!




अपना कोई मिल जाता तो हम फूट के रो लेते,

यहाँ सब गैर हैं तो हँस के गुजर जायेगी।




चल पड़े हैं फ़िकरे यार धुएं में उड़ा के

मेरी नीम सी ज़िन्दगी शहद कर दे।




जिंदा रहने की अब यह तरकीब निकाली है ,

जिंदा होने की खबर सब से छुपा ली है.



“गलत कहेते है लोग की सफेद रंग मै वफा होती है…दोस्तो…!!!!

अगर ऐसा होता तो आज “नमक” जख्मो की दवा होता…..”




सुनो! या तो मिल जाओ, या बिछड जाओ,

यू सासो मे रह कर बेबस ना करो।



जब तक था दम में दम न दबे आसमाँ से हम,

जब दम निकल गया तो ज़मीं ने दबा लिया।




बनके सावन कहीं वो बरसते रहे

इक घटा के लिए हम तरसते रहे

आस्तीनों के साये में पाला जिन्हें,

साँप बनकर वही रोज डसते रहे.




मुश्किलों से कह दो की उलझे ना हम से,

हमे हर हालात मैं जीने का हूनर आता है।



नींद सोती रहती है हमारे बिस्तर पे,

और हम टहलते रहते हैं तेरी यादों में!!




काश तू चाहे मुझे मेरी तरह और मैं 

#Ignore करूं तुझे तेरी तरह




मैं एक शाम जो रोशन दिया उठा लाया,

तमाम शहर कहीं से हवा उठा लाया।



निकाल दिया उसने हमें अपनी ज़िन्दगी से भीगे कागज़ की तरह,

ना लिखने के काबिल छोड़ा, ना जलने के..!!




बस ख़ामोशी जला देती है इस दिल को,

बाकि तो सब बाते अच्छी हैं तेरी तस्वीर में।




सोचता था तुम्हें खूबसूरत सा कोई घर दूंगा।

मैला आँचल तेरा फूलों से कभी भर दूंगा।।




आप की खा़तिर अगर हम लूट भी लें आसमाँ,

क्या मिलेगा चंद चमकीले से शीशे तोड़ के।





मुझे तेरा साथ…जिंदगी भर नहीं चाहिये,

बल्कि जब तक तु साथ है…तब तक जिंदगी चाहिये!





अर्ज़ किया है-

  ऐसा कोई दिन नहीं ,

 जब याद तुम्हारी नहीं आती.

  दिल में बेचैनी और आँखों में,

 " अश्क नहीं दे जाती "




लाख गुलाब लगा लो ज़ीवन मैं,

खुश्बू तो बेटी के आने से ही होती है!!





Haath Tute Maine Gar Chhedi Ho Zulfein Aap Ki,

Aap Ke Sar Ki Kasam Baad-e-Sabaa Thi Main Na Tha.



जिस दिन से तुमने

नज़रें मिलाना छोड़ दिया

तेरी गलियों में हमने

आना जाना छोड़ दिया



Unchi Imaaraton Se Makaan Mera Ghir Gaya,

Kuchh Log Mere Hisse Ka Suraj Bhi Kha Gaye.



प्यार उससे करो जो प्यार को समझें,

लेकिन उससे कभी मत करो जो प्यार को खिलौना समझें !!




मेरे इरादे मेरी तक़दीर बदलने को काफी हैं,

मेरी किस्मत मेरी लकीरों की मोहताज़ नहीं।



कह दो इन हसरतों से कहीं और जा बसें

इतनी जगह कहाँ है दिल-ए-दाग़-दार में।




Hunar Bataate Agar Uske Aib Ko Hum Bhi,

Toh Doston Mein Humein Bhi Shumaar Kar Leta.



बर्बाद किया जिसने हमको उनको दुआ देते हैं।

दर्द से भर आता है दिल उसी का नाम लेते हैं।।



हल्की हल्की सी सर्द हवा ज़रा ज़रा सा दर्द,

अंदाज अच्छा है ए नवम्बर तेरे आने का।





मेरा वक़्त बदलेगा रुतबा नहीं,

तेरी क़िस्मत बदलेगी औकात नहीं




जख्म गरीब का कभी सूख नहीं पाया,

शहजादी की खरोंच पे तमाम हकीम आ गये!!




ना शाखाओं ने जगह दी ना हवाओ ने 

बक्शा वो पत्ता आवारा ना बनता तो क्या करता ?



कभी तुम पूछ लेना, कभी हम भी ज़िक्र कर लेगें,

छुपाकर दिल के दर्द को, एक दूसरे की फ़िक्र कर लेंगे।




अपनी ईन नशीली निगाहों को जरा,

झुका दीजिए जनाब, मेरे मजहब में नशा हराम है!!




कोई दीवाना दौड़ के लिपट न जाये कहीं,

आँखों में आँखें डालकर देखा न कीजिए।





Last Word


दोस्तों  आज हम इस आर्टिकल में बात किया हैं "Two Line Shayari " के बारेमे . 


दोस्तो मुझे उम्मीद है कि आपको हमारा ये  Two Line Shayari  पसंद आयी होंगी. आप अपने दोस्तों और  प्रियजनों के साथ Facebook & Whatsapp शेयर कर सकते हैं।

आपके पसंदिता कोनसा है Two Line Shayari  ?

कमेंट करके जरुर बताना.